अमेठी में जीत के लिए गायत्री प्रजापति पर मेहरबान हुई बीजेपी?

अमेठी लोकसभा सीट पर वोटिंग जारी है. इस सीट पर कब्जा जमाने के लिए बीजेपी ने हरसंभव प्रयास किए हैं. यहां तक कि बीजेपी अमेठी के पूर्व विधायक गायत्री प्रजापति तक पर मेहरबान नजर आई. इसके संकेत इस बात से मिलते हैं कि पांचवें चरण की वोटिंग से तीन दिन पहले शुक्रवार को गायत्री प्रजापति को लखनऊ जेल से शहर के केजीएमयू में भर्ती करा दिया गया. जिसके बाद गायत्री  प्रजापति के करीबी लोगों ने अमेठी में स्मृति ईरानी के लिए वोट मांगना शुरू कर दिया.

सपा सरकार में मंत्री रहे गायत्री प्रजापति को शुक्रवार को जेल से सीधे पुलिस अभिरक्षा में केजीएमयू के यूरोलॉजी विभाग ले जाया गया है. बताया जा रहा है कि उन्हें पेशाब संबंधी समस्या है, जिसके चलते इलाज के लिए केजीएमयू में भर्ती कराया गया है. लेकिन सूत्रों की मानें तो गायत्री पर मेहरबानी की वजह अमेठी का लोकसभा चुनाव है.गायत्री प्रजापति के बेटे अनिल प्रजापति के बारे में पहले माना जा रहा था कि बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की अमेठी रैली में शामिल होंगे. लेकिन सार्वजनिक रूप में उन्होंने बीजेपी का दामन नहीं थामा. हालांकि सूत्रों की मानें तो अमेठी में भीतरखाने वह बीजेपी का सहयोग कर रहे हैं. उनके करीबी खुले तौर पर बीजेपी और स्मृति के पक्ष में प्रचार कर रहे हैं. दरअसल अमेठी में सपा ने अपना उम्मीदवार नहीं उतारा है.

गायत्री प्रजापति रेप के आरोप में लंबे समय से लखनऊ के जेल में बंद हैं. 2017 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने गायत्री प्रजापति के मुद्दे को लेकर जमकर उठाया था. इसी का नतीजा था कि गायत्री को चुनाव के दौरान छुप-छुपकर प्रचार करना पड़ा था और वोटिंग के बाद उन्हें गिरफ्तार किया गया. इसके बाद से वो जेल में बंद है.

गायत्री प्रजापति को पेशाब संबंधी समस्या के साथ प्रोस्टेट की समस्या बताई जा रही है. इसी के चलते उन्हें शुक्रवार को लखनऊ के केजीएमयू में भर्ती कराया गया था.गायत्री प्रजापति अमेठी विधानसभा सीट से 2012 में सपा से विधायक चुने गए थे, लेकिन 2017 में बीजेपी से वो हार गए हैं.

Like us share us

Leave a Reply

Your email address will not be published.