हमला किया तो बुला लेंगे अमेरिकी सेना -फिलीपीन्स ने चीन को दी चेतावनी

हमला किया तो बुला लेंगे अमेरिकी सेना
0-फिलीपीन्स ने चीन को दी चेतावनी
मनीला,28 अगस्त । फिलीपीन्स ने चीन को चेतावनी दी है कि अगर उसने दक्षिण चीन सागर में उसके नौसैनिक जहाजों पर हमला किया तो वह अमेरिकी सेना को बुलाने के लिए बाध्य हो जाएगा।

फिलीपीन्स के विदेश मंत्री टेओडोरो लोकसिन ने बुधवार को कहा कि चीन ने अगर हमला किया तो वह अमेरिका के साथ अपने रक्षा समझौते को लागू कर देगा। इससे पहले फिलीपीन्स के राष्ट्रपति रोड्रिगो डुटेर्टे के प्रशासन ने कहा था कि उनकी सरकार अमेरिका से मदद नहीं मांगेगी।
माना जा रहा है कि फिलीपीन्स और चीन के बीच साउथ चाइना सी में बढ़ते तनाव के बाद मनीला ने पेइचिंग को यह चेतावनी दी है। विदेश मंत्री लोकसिन ने कहा कि चीन की चेतावनी के बाद फिलीपीन्स की वायुसेना आगे भी साउथ चाइना के ऊपर गश्त लगाती रहेगी। चीन ने इसे अवैध उकसावे वाली कार्रवाई बताया है। लोकसिन ने कहा, वे इसे अवैध कार्रवाई बताते हैं, आप उनके दिमाग को नहीं बदल सकते हैं। वे पहले ही न्यायालय में हार चुके हैं।
लोकसिन ने आगे कहा कि अगर चीन इससे आगे बढ़ते हुए हमारे जहाजों पर हमला करता है तो हम अमेरिकी सेना को बुला लेंगे। उन्होंने यह नहीं बताया कि किन परिस्थितियों में फिलीपीन्स अमेरिका को बुलाएगा, इस पर उन्होंने जवाब नहीं दिया। विदेश मंत्री लोकसिन ने इससे पहले अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो से बात की थी। लोकसिन का यह बयान ऐसे समय पर आया है जब अमेरिका और चीन के बीच साउथ चाइना सी को लेकर विवाद बढ़ता ही जा रहा है।
इससे पहले बुधवार की रात को साउथ चाइना सी में अपनी शक्ति का प्रदर्शन करते हुए चीन ने चार मिसाइलों का परीक्षण किया था। बताया जा रहा है कि ये चारों मध्यम दूरी तक मार करने वाली बैलिस्टिक मिसाइलें थीं। चीन ने पहले ही हेनान द्वीप के पास मिसाइल टेस्ट को लेकर नोटम जारी किया हुआ था। जिसके कारण इस क्षेत्र में हवाई यातायात को प्रतिबंधित कर दिया गया था।
चीन ने यह कदम अमेरिकी खोजी जहाजों के उसकी वायुसीमा के नजदीक उड़ान भरने के बाद उठाया है। रिपोर्ट के अनुसार, चीन ने इन मिसाइलों का टेस्ट हेनान द्वीप और पारसेल द्वीप के बीच किया है। कुछ दिन पहले अमेरिकी एयरक्राफ्ट कैरियर रोनाल्ड रीगन ने पारसेल द्वीप के पास ही युद्धाभ्यास किया था। माना जा रहा है कि उसी का जवाब देने के लिए चीन ने मिसाइल टेस्ट के लिए इस जगह को चुना था।

Like us share us

Leave a Reply

Your email address will not be published.