पाकिस्तान : एयर स्पेस बंद करने से देश को हुआ अरबों का नुकसान

पाकिस्तानी नागरिक उड्डयन प्राधिकरण (Pakistan Civil Aviation Authority) को 8.5 अरब रूपये का नुकसान हुआ है। पाकिस्तानी मीडिया ने अपनी एक रिपोर्ट में दावा किया है कि फरवरी में हवाई क्षेत्र में लगाए गए प्रतिबंध के कारण ऐसा हुआ है। पाकिस्तान संघीय उड्डयन मंत्री गुलाम सरवर खान ने गुरुवार को कहा कि यह हमारे समग्र (विमानन) उद्योग के लिए एक बड़ा नुकसान है। खान ने आगे कहा कि इस प्रतिबंध से पाकिस्तान की तुलना में भारत को भी डबल नुकसान हुआ है। हालांकि उन्होंने कहा कि इस समय दोनों सामंजस्य की आवश्यकता है।

पाकिस्तान ने फरवरी में बालाकोट में हवाई हमले के बाद से ही भारतीय यात्री विमानों के लिए अपना हवाई क्षेत्र बंद कर दिया था। इस तरह के और हवाई हमले की आशंका के चलते उसने अपने हवाई क्षेत्र को बंद रखने में ही भलाई समझी। नि:संदेह इस पाबंदी के चलते भारतीय विमानन कंपनियों को नुकसान उठाना पड़ा रहा था। यूरोप जाने वाले उनके विमानों को अधिक दूरी तय करनी पड़ रही थी।

यह किसी से छिपा नहीं कि बीते कुछ समय से पाकिस्तान किस तरह गंभीर आर्थिक संकट से जूझ रहा है। इसी आर्थिक संकट ने पाकिस्तान को भारतीय विमानों के लिए अपना हवाई क्षेत्र खोलने के लिए मजबूर किया।गौरतलब है कि पाकिस्तान का एयरस्पेस फरवरी में पुलवामा आतंकी हमले (Pulwama Terror Attack) के बाद पाकिस्तान के बालाकोट में आतंकी ठिकानों पर हुए एयरस्ट्राइक (Balakot Air Strike) के बाद से बंद है। इससे तब से अब-तक रोज तकरीबन 400 विमान पाकिस्तान के एयर स्पेस का इस्तेमाल नहीं कर पा रहे थे।

Like us share us

Leave a Reply

Your email address will not be published.