प्रधानमंत्री ने मध्य प्रदेश के रेहड़ी पटरी वालों के साथ ‘स्वनिधि संवाद में की बातचीत…


रायसेन के डालचंद्र कुशवाह की तारिफ की, कहा आपका व्यापार करने का तरिका है नायाब
भोपाल ,09 सितंबर (आरएनएस)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  ने बुधवार को वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से मध्य प्रदेश के रेहड़ी पटरी वालों के साथ ‘स्वनिधि संवादÓ में बातचीत की  उन्होने कहा कि उनकी सरकार का प्रयास है

कि प्रत्येक देशवासी का जीवन आसान हो और वे आत्मनिर्भर बन सकें। हमारे देश में गरीबों की बात तो बहुत हुई है, लेकिन गरीबों के लिए जितना काम पिछले छह साल में हुआ है, उतना पहले कभी नहीं हुआ। पीएम ने कहा कि कोविड-19 महामारी से प्रभावित रेहड़ी पटरी वालों को पुन: आजीविका से जोडऩे के लिए केंद्र सरकार ने ‘प्रधानमंत्री स्वनिधि योजनाÓ की शुरुआत की है। मोदी ने कहा कि प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना का मकसद है कि रेहड़ी पटरी वाले लोग नई शुरुआत कर सकें, अपना काम फिर शुरू कर सकें, इसके लिए उन्हें आसानी से पूंजी मिल सके ।
 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को मध्य प्रदेश के शहरी पथ विक्रेताओं से संवाद किया। मोदी ने इंदौर में सांवेर के छगन लाल वर्मा, ग्वालियर की अर्चना शर्मा और रायसेन के फल के ठेला लगाने वाले डालचंद्र से बातचीत की। उनसे पीएम स्वनिधि योजना से मिले ऋण के बारे में जानकारी ली।
उनकी बातचीत की शुरुआत इंदौर जिले के सांवेर क्षेत्र के छगनलाल से हुई। छगनलाल झाडूं बनाकर ठेले पर बेचते हैं। प्रधानमंत्री ने जब उनसे बातचीत शुरू की तो छगन ने बताया कि पत्नी और बच्चों समेत वह झाडूं बनाते और बेचते हैं। प्रधानमंत्री ने बात काटते हुए पुछा कि क्या बच्चे पढ़ते नहीं हैं। उन्होंने बच्चों को पढ़ाने के लिए प्रेरित किया। फिर उनसे झाडूं बनाने की विधि पूछी। ग्वालियर की अर्चना ने बातचीत मे बताया कि पति राजेंद्र शर्मा के बीमार होने पर वह ठेला लगाती हैं तो उन्होंने अर्चना के जजबे को सैल्यूट किया। रायसेन के जिले के सांची स्तुप के पास फल कि दुकान चलाने वाले डालचंद्र से जब बातचीत शुरु हूई उसने बताया कि सरकार की सारी योजनाओं का लाभ मिला है। आयुष्मान से परिवार का निशुल्क इलाज हो रहा है। गैस मिलने से जल्दी खाना बन जाता है। पीएम ने डालचंद्र कि तारिफ करते हुए कहा कि आपका व्यापार करने का जो तरिका है, वह नायाब है

Like us share us

Leave a Reply

Your email address will not be published.