जेईई मेन्स की पहली पारी की परीक्षा शुरू, एग्जाम सेंटर पर स्टूडेंट दूरी बनाकर अंदर पहुंचे

लखनऊ, (आरएनएस ) । उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में मंगलवार से आईआईटी समेत अन्य प्रतिष्ठित इंजीनियरिंग संस्थानों में दाखिले के लिए जेईई मेन्स की परीक्षा शुरू हुईं। राजधानी में कोरोना के चलते केंद्रों पर पहले दिन अभ्यर्थियों की उपस्थिति बहुत कम ही दिखाई दी। सुबह की पाली में कुछ केंद्रों पर अभ्यर्थी इक्का-दुक्का पहुंचे। लखनऊ में 9 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। पहली पाली की परीक्षा 9 से 12 बजे तक होगी और दूसरी पाली 3 बजे से शाम 6 बजे तक होनी है।

आयन जोन बिजनौर रोड ओमेक्स सिटी, आजाद टेक्निकल कैम्पस आजाद पुरम बांग्ला बाजार निकट सीआरपीएफ कैंप बिजनौर, तिवारीपुर निकट सीएसआइआर, सीडीआरआई जानकीपुरम एक्सटेंशन परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। पहले दिन बीआर्क (बैचलर ऑफ आर्किटेक्चर) की परीक्षा है। परीक्षा दो पालियों में होनी है।

पॉलिटेक्निक इलाके में किराए के मकान में रहने वाले मऊ के अमित प्रजापति का कहना है कि मेरा मित्र धर्मराज परीक्षा देने आया है। अमित बताते हैं कल रात में दोस्त का फोन आया था मेरी परीक्षा है। बहुत दूर सेंटर पड़ा है, समय हो तो साथ चले चलो नहीं तो मैं पहुंच नहीं पाऊंगा। इतनी दूर केंद्र होने की वजह से आने जाने का कोई इंतजाम नहीं हो पा रहा था। खुद ही दोस्त को लेकर परीक्षा केंद्र पहुंचा हूं। तीन घंटे की परीक्षा है और दोस्त अंदर परीक्षा दे रहा है। परीक्षा खत्म होने के बाद ही साथ लेकर जाएंगे।

परीक्षा केंद्र वहीं बने जहां ठहरने की व्यवस्था हो

अमित ने कहा कि नेशनल टेस्टिंग एजेंसी को चाहिए कि परीक्षा केंद्र वहीं बनाया करे जहां पर ठहरने का प्रबंध भी हो, ताकि दूरदराज से आने वाले विद्यार्थियों और उनके परिजनों को किसी प्रकार की परेशानी न हो। अमित बताते हैं मैं अपने दोस्त के साथ बिजनौर के आजाद इंस्टिट्यूट पहुंच गया था।

वहीं दूसरी ओर बाराबंकी से परीक्षा देने आए शोभित कहते हैं कि बेटे सुशोभित की परीक्षा है, पर चिंता उन्हें हो रही है। परीक्षा केंद्र लखनऊ के ग्रामीण इलाके में बिजनौर आजाद टेक्निकल इंस्टिट्यूट में बना होने के कारण समय पर पहुंचे इसलिए सुबह 5ः00 बजे ही उठ गए थे और लगभग तैयार होकर 8ः00 बजे सेंटर के बाहर पहुंच गए थे। ताकि बेटा भीड़ इकट्ठे होने से पहले ही परीक्षा केंद्र में अंदर पहुंच जाए। यहां पर आते ही प्रत्येक विद्यार्थी को अलग-अलग एंट्री करवा रहे थे।

जेईई के लिए बनाये गए हर केंद्र पर तैनात होंगे दो आब्जर्वर
जेईई की परीक्षा से पहले लखनऊ डीएम अभिषेक प्रकाश ने जेईई और नीट परीक्षा के लिए समीक्षा की थी। अभिषेक प्रकाश ने बताया कि जेईई के लिए राजधानी लखनऊ में 9 सेंटर बनाये गए हैं। जबकि 13 सितंबर को आयोजित होने वाली नीट परीक्षा के लिए 82 केंद्र बनाए गए हैं। उन्होंने बताया कि सभी केन्द्रों पर 2 आब्जर्वर नियुक्त किए गए हैं। जेईई की परीक्षा 2 पाली में सुबह 9 से 12 और दोपहर 3 से 6 बजे तक आयोजित होगी।

सभी केंद्रों पर सोशल डिस्टेंसिंग और कोविड प्रोटोकॉल का होगा पालन
डीएम ने सभी केंद्र व्यवस्थापक को निर्देश दिए हैं कि केन्द्रों में सोशल डिस्टेंसिंग और कोविड प्रोटोकॉल का पूरा पालन कराए जाने का ध्यान रखा जाए। सभी केंद्रों पर सीसीटीवी कैमरों को चेक कर लिया जाए कि सभी कार्यशील है या नहीं है।

उन्होंने निर्देश दिया कि परीक्षा के पहले संपूर्ण परिसर, परीक्षा कक्ष और फर्नीचर को अच्छी तरह से सैनिटाइज कर केंद्र को लॉक कर दिया जाये। साथ ही निर्देश दिया कि प्रत्येक केद्र पर परीक्षार्थी के मोबाइल जमा कराने के लिए लिफाफे रखे जाएं ताकि परीक्षार्थी अपना मोबाइल जमा कर सके। डीएम ने कहा कि प्रत्येक केंद्र पर 200-200 मास्क रखाने की व्यवस्था की जाए। जिससे बगैर मास्क आने वाले परीक्षार्थी तुरंत भुगतान कर मास्क ले सकें। बगैर मास्क के केंद्र में प्रवेश की अनुमति नहीं होगी।

आईआईटी और ट्रिपल आईआईटी समेत प्रतिष्ठित इंजीनियरिंग कॉलेज में दाखिले के लिए होने वाली आयोजित गए जेईई मेंस परीक्षा में यूपी से 100706 परीक्षार्थी हिस्सा लेंगे। यह परीक्षा यूपी के 66 केंद्रों पर आयोजित होनी है। यह परीक्षा 1 सितंबर से 6 सितंबर तक 12 चरणों में आयोजित होगी। जबकि आगामी 13 सितंबर को होने वाली नीट की परीक्षा में 166582 परीक्षार्थी हिस्सा लेंगे। जिनके लिए यूपी में 320 सेंटर बनाए गए हैं। दोनों ही परीक्षाओं में कोरोना प्रोटोकाल का पालन किया जाएगा।

Like us share us

Leave a Reply

Your email address will not be published.