तेलीबाग, के जावित्री अस्पताल में हंगामा,7 लाख रुपए लेकर टेस्ट ट्यूब के माध्यम से होना था

पीजीआई, तेलीबाग, के जावित्री अस्पताल में हंगामा,7 लाख रुपए लेकर टेस्ट ट्यूब के माध्यम से होना था बच्चा,45 दिन से महिला है अस्पताल में भर्ती।
अब उसे कोरॉना पॉजिटिव बता अस्पताल से बाहर निकाला।

पीजीआई (आरएनएस ) लखनऊ।तेलीबाग स्थित जावित्री अस्पताल पर एक बार फिर मरीज का गलत इलाज करने,धन उगाही कर भगाने का आरोप लगाते हुए मरीज के परिजनों ने हंगामा किया है। हंगामे की सूचना पर, ए सी पी कैंट डॉ वीनू सिंह, इंस्पेक्टर पीजीआई कण्व कुमार मिश्र भारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे और लोगों को समझाने का प्रयास किया।मिली जानकारी के मुताबिक एक वर्ष पहले  उमेश यादव  पत्नी रीना यादव निवासी पकरी गांव, आशियाना ने  जावित्री अस्पताल में संपर्क कर संतान के लिए उपचार शुरू कराया,जिसके लिए अस्पताल ने कुल खर्च 6 लाख रुपए बताए,पीड़ित महिला के परिजनों का कहना है कि अच्छी तरह से बच्चा हो जाय इसके लिए 45 दिन पहले महिला को अस्पताल में भर्ती करवा लिया,जिसके लिए अस्पताल ने फिर से 45 हजार रुपए जमा कराए।मंगलवार को सुबह अस्पताल प्रशासन ने बताया कि महिला को कोरोना हो गया है इसको लेकर जाओ।उमेश यादव का आरोप है कि पेट में बच्चे का मूमेंट बन्द है,और जच्चा बच्चा दोनों की जान का खतरा है जिसके लिए अस्पताल उन्हें भगा रहा है।परिजनों ने पूछा कैसे हो गया कोरोना, अगर हुआ था तो अस्पताल शील कर सैनिटाइज क्यों नहीं कराया।

Like us share us

Leave a Reply

Your email address will not be published.