UP के DGP हितेश चंद्र अवस्थी CBI निदेशक पद के प्रमुख दावेदार | Lucknow Latest News

उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक हितेश चंद्र अवस्थी देश की शीर्ष जांच एजेंसी केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआइ) के निदेशक बनने की रेस की फ्रंट लाइन में हैं। सीबीआइ में अलग-अलग पदों पर 14 वर्ष की सेवा देने वाले अवस्थी का नाम तीन लोगों की सूची में है। इसी में से एक की निदेशक के पद पर तैनाती होगी। सीबीआई के निदेशक का पद फरवरी से ही खाली है। हितेश चंद्र अवस्थी को दो बार उत्तर प्रदेश शासन में गृह विभाग का विशेष सचिव भी बनाया गया। इससे पहले वह में अविभाजित उत्तर प्रदेश में टिहरी गढ़वाल और हरिद्वार के एसपी पद पर भी रहे थे। 2016 में उत्तर प्रदेश में एडीजी से डीजी के पद पर प्रमोट अवस्थी डीजीपी मुख्यालय, टेलीकॉम, होमगार्ड्स, एंटी करप्शन ऑर्गेनाइजेशन (एसीओ) और आर्थिक अपराध एवं अनुसंधान शाखा (ईओडब्ल्यू) में डीजी रहे। वह 2017 में डीजी विजिलेंस बनाए गए। वह 31 जनवरी, 2020 को उत्तर प्रदेश के कार्यवाहक डीजीपी और चार मार्च, 2020 को पूर्णकालिक डीजीपी नियुक्त हुए थे।  

Police will strict vigilant on events related festivals in UP DGP Hitesh  Chandra Awasthi released guidelines

प्रदेश पुलिस के मुखिया हितेश चंद्र अवस्थी का कार्यकाल 30 जून, 2021 को पूरा हो रहा है। इससे पूर्व उन्हें सीबीआइ का सर्वोच्च पद संभालने की जिम्मेदारी मिल सकती है। मूलत: लखनऊ के निवासी हितेश चंद्र अवस्थी पहली बार केंद्रीय प्रतिनियुक्ति के दौरान वर्ष 1994 से वर्ष 2001 तक सीबीआइ में एसपी के पद पर तैनात रह चुके हैं। साफ सुधरी छवि के लिए पहचाने जाने वाले हितेश चंद्र अवस्थी 2000 से 2001 के मध्य करीब डेढ़ वर्ष केंद्रीय जांच एजेंसी में डीआइजी के पद पर भी कार्यरत रहे। इसके बाद में वह 2007 से 2013 तक मध्य सीबीआइ में आइजी/ज्वाइंट डायरेक्टर के पद पर तैनात रहे और अपने नेतृत्व में कई अहम जांचों को अंजाम तक पहुंचाया। अवस्थी केंद्र सरकार में 2005 से 2008 तक वे नेशनल क्राइम रिकार्ड ब्यूरो में डीआइजी व डिप्टी डायरेक्टर रहे। सीबीआइ में 2008 से 2013 तक आईजी और ज्वाइंट डायरेक्टर रहे।

अवस्थी को मिल सकता है अनुभव का लाभ: देश की सबसे बड़ी जांच एजेंसी के मुखिया के पद के लिए तीन आइपीएस अफसरों की दौड़ में शामिल हितेश चंद्र अवस्थी को इस जांच एजेंसी में उनके पूर्व के अनुभवों का लाभ मिल सकता है। 1985 बैच के आइपीएस अधिकारी हितेश चंद्र अवस्थी को सीबीआइ में काम करने का लंबा अनुभव है। वह सीबीआइ में अलग-अलग पदों पर 14 वर्षों से अधिक समय तक काम कर चुके हैं।

ओम प्रकाश (ओपी) सिंह के बाद मार्च 2020 से उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक का पद संभालने वाले हितेश चंद्र अवस्थी का नाम सोमवार को सीबीआइ के निदेशक बनने की रेस के उन तीन अफसरों में शामिल किया गया, जिनमें से एक के नाम पर मुहर लगेगी। पीएम नरेंद्र मोदी के साथ ही पैनल में शामिल लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी और भारत के मुख्य न्यायाधीश एनवी रमन्ना ने निदेशक के पद चयन के लिए गहन मंत्रणा की। सैकड़ों नाम के बीच में से जो अंतिम तीन नाम फाइनल हुए हैं, उनमें उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक हितेश चंद्र अवस्थी, सशस्त्र सीमा बल के महानिदेशक केआर चंद्रा और ग्रह मंत्रालय में विशेष सचिव वीएसके कौमुदी हैं। एसएसबी डीजी, कुमार राजेश चंद्रा 1985 बैच के बिहार कैडर के आईपीएस अधिकारी हैं। गृह मंत्रालय में विशेष सचिव वाईएसके कौमुदी आंध्र प्रदेश कैडर के 1986 बैच के आइपीएस ऑफिसर हैं।

Like us share us

Leave a Reply

Your email address will not be published.